बजट में कैमिकल्स, पुस्तकें व ई जर्नल्स खरीदने का प्रावधान, 20 मिनट चर्चा कर किया पास

ग्वालियर। जीवाजी विश्वविद्यालय की कार्य परिषद में शनिवार को 2020-21 का बजट पेश किया गया। इस बजट में 10.22 करोड़ का घाटा दिखाया गया। इस बजट पर 15 से 20 मिनट तक चर्चा की गई। उसे एक मत से पास कर दिया। बजट में छात्रों के लिए कैमिकल्स, पुस्तकें, ई-जर्नल्स खरीदने की प्रावधान किए गए हैं। विवि के विकास को भी ध्यान में रखा है।


जीवाजी विश्वविद्यालय की कार्य परिषद की बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में ईसी मेंबरों ने भी मुद्दे रखे। उसके बाद बजट को पेश किया। जेयू ने 2020 में अनुमानित आय 1 अरब 6 करोड़ 88 लाख 65 हजार रुपए बताई गई है। इस वित्त वर्ष में 1 अरब 17 करोड़ 11 लाख 8 हजार का व्यय अनुमानित किया है। बजट में पिछले साल की तुलना में घाटा बढ़ा है। बजट में केन्द्रीय पुस्तकाल के लिए ई जर्नल्स, शोध पुस्तकाएं, पुस्तक खरीदने के लिए 2 करोड़ का प्रावधान किया गया है। बैठक में कुलपति संगीता शुक्ला, कुलसचिव आईके मंसूरी, कार्य परिषद सदस्य अनूप अग्रवाल, मनेन्द्र सोलंकी, बीरेन्द्र सिंह आदि मौजूद थे। जब बैठक खत्म हुई तो प्रोफेसर टीवी स्क्रीन पर बजट चर्चा को सुन रहे थे। इसको लेकर कार्य परिषद सदस्यों हंगामा किया। बजट चर्चा की गोपनीयता को भंग किया गया है। भविष्य में बजट की चर्चा ओपन में की जाएगी।


 

बजट में यह किए गए प्रावधान


सेमिनार सहित अध्याशालाओं में शोध कार्य को बढ़ावा देने के लिए स्टार्टअप ग्रांट, पेमेंट संबंधी व्यय के लिए राशि का प्रावधान किया गया है।


विवि के फिक्स्ड असेट की कोडिंग आवश्यक रूप से कराए जाने का प्रावधान किया गया है।


व्यय को ध्यान में रखते हुए लैब व उपकरणों के अनुबंध पर जोर दिया है।


विवि की आय बढ़ाने के लिए छात्रों के प्रवेश पर जोर दिया जाएगा, जिसके लिए कोर्सों का प्रचार-प्रसार किया जाएगा।


 

विवि के विकास केलिए 19.52 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।


इन मदों से बताई आय


राजस्व खाते- 3.97 प्रतिशत


अध्ययन शाला के छात्रों से प्राप्त शुल्क-2.28प्रतिशत


परीक्षा शुल्क-49.93प्रतिशत


संस्था व कालेजों से प्राप्त शुल्क-0.64प्रतिशत


भवन, भूमि, छात्रावास का किराया-4.41प्रतिशत


परीक्षा आवेदन.0.76प्रतिशत


विनियोग से प्राप्त ब्याज-37प्रतिशत


युवा उत्सव के बिलों के 20 लाख रुपए रोके


बैठक के दौरान युवा युत्सव में खर्च हुए 55 लाख रुपए का बिल पेश किया। इन बिलों को पास करने का प्रस्ताव रखा गया। जिसा विरोध किया गया। जिन वेंडरों से सामान लिया गया है, उनके एग्रीमेंट दिखाए जाएं। खर्च के बिल भी दिखाए जाएं। उसके बाद भुगतान किया जाएगा। 20 लाख रुपए का बिल रोक दिया गया।


- मुरैना की जमीन की बाउंड्रीवॉल के निर्माण का प्रस्ताव रखा गया। निर्माण एजेंसी के रूप में पीआईयू को चुना जा रहा था। इस प्रस्ताव का भी विरोध किया गया, जब जेयू के पास खुद के इंजीनियर हैं, पीआईयू को क्यों दिया जा रहा है।


ट्रैक सूट के लिए भी 40 लाख रुपए की स्वीकृति मांगी थी, जिसे ईसी ने रोक दी।


अयोग्य शिक्षकों से मूल्यांकन का मामला भी ईसी मेंबर अनुप अग्रवाल ने उठाया। शिक्षकों योग्यता की जांच का फैसला लिया गया।


Popular posts
शादीशुदा BF संग भागी प्रेमिका, प्रेमी की पत्नी नही मानी तो प्रेमी पर दर्ज कराया RAPE का मामला
Image
MP पुलिस के जांबाज अफसर ओर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट मोहिंदर कंवर परिणय सूत्र में बंधे
Image
प्रशासन ने सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खोला बाजार, व्यापारी नहीं चाहते खोलना
विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के उपलक्ष में ऑनलाइन बैठक तम्बाकू जानलेवा, मैं भी कर रहा हूँ इसकी आदत छोड़ने क़ी कोशिश - डॉ. हेमंत जैन तम्बाकू मुक्त समाज की पहल में सहभागी बनें : रामजी राय दतिया। असमय मानव जीवन के खत्म होने में बहुत बड़ा योगदान तम्बाकू से बने पदार्थों के सेवन से है चाहे वह चबाने वाला हो, सूंघने वाला हो अथवा धूम्रपान हो। इन सबके सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव से सेवन करने वाला स्वयं और अपने इर्दगिर्द रहने वाले स्वजनों को धीमी जहर से होने वाली मौत की ओर अग्रसर करता है। इसमें युवा भी अत्यधिक ग्रसित होता चला जारहा है। अतः आवश्यक है सामुदायिक जागरूकता की। उक्त उद्गार वरिष्ठ समाजसेवी वीरेन्द्र शर्मा ने व्यक्त किए। तम्बाकू जानलेवा, मैं भी कर रहा हूँ इसकी आदत छोड़ने क़ी कोशिश यह बात बैठक में स्रोत व्यक्ति के रूप में सम्मिलित मेडीकल कॉलेज के सहायक प्राध्यापक डॉ. हेमंत जैन ने कही। इस उद्देश्य की प्रतिपूर्ति हेतु विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के उपलक्ष में स्वदेश ग्रामोत्थान समिति व मध्यप्रदेश वॉलेंट्री हेल्थ एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में संचालित अभियान के अंतर्गत ऑनलाइन वेविनार बैठक संस्था संचालक रामजीशरण राय के नेतृत्व में आयोजित की गई। उन्होंने तम्बाकू मुक्त समाज की पहल में सहभागी बनने की अपील की। साथ ही श्री राय ने तम्बाकू उत्पादों के सेवन करने वाले व उससे होने वाली मौतों के आंकड़े प्रस्तुत किए। कोरोना महामारी के चलते सरकार द्वारा प्रदत्त एडवाइजरी के परिपालन में सामाजिक दूरी बनाए रखने हेतु आयोजित ऑनलाइन जागरूकता बैठक में वरिष्ठ समाजसेवी सरदारसिंह गुर्जर, डॉ. बबीता विजपुरिया, दया मोर, अशोककुमार शाक्य, राजपालसिंह परमार, पीयूष राय, रुचि सोलंकी, बलवीर पाँचाल, दीक्षा लिटौरिया, श्वेता शर्मा, जितेंद्र सविता, प्राप्ति पाठक, अखिलेश गुप्ता, देवेंद्र बौद्ध, पिस्ता राय, अभय दाँगी, शिवम बघेल, भैरव दाँगी, प्रज्ञा राय, शैलेंद्र सविता, सुवेश भार्गव आदि ने सहभागिता करते हुए समुदाय को तम्बाकू मुक्त बनाने हेतु सतत जागरूकता के प्रयासों में अपनी भूमिका निभाने की सहमति जताई। हम विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर शपथ लेते हैं कि प्रत्येक मानव जीवन को सुरक्षितऔर संरक्षित रखने हेतु स्वयं तम्बाकू से बने पदार्थों का सेवन नहीं करेंगे साथ ही समुदाय को तम्बाकू से बने पदार्थों के सेवन न करने हेतु प्रेरित करेंगे। साथ ही शपथ लेते हैं कि हम अपने अपने स्तर पर जिले सार्वजनिक स्थानों को धूम्रपान मुक्त करने की पहल में शासन प्रशासन का आवश्यक सहयोग करते हुए कोटपा अधिनियम के कानूनी प्रावधानों की जागरूकता करेंगे। उक्त जानकारी बलवीर पाँचाल ने देते हुए सार्वजनिक स्थानों को धूम्रपान मुक्त करने की अपील की। अंत में बैठक सहभागी सभी का आभार सरदार सिंह गुर्जर ने किया।
Image
कोतवाली पुलिस ने किए अंधे कत्ल के शेष दो आरोपी गिरफ्तार। 
Image