पुरातत्व विभाग का नपा को नोटिस: खाली करो भवन

पुरातत्व विभाग का नपा को नोटिस: खाली करो भवन


स्वयं की 50 करोड की जमीन खुर्दबुर्द




शिवपुरी। खबर शिवपुरी नगर पालिका के आफिस आ रही हैं जहां वर्षो से पुरात्तव के भवन में चल रहे नगर पालिका के कार्यालय को खाली करने का नोटिस पुरात्तव विभाग दे चुका हैं नपा को यह भवन खाली करना पडेगा,बताया जा रहा हैं कि नपा को अपना भवन बनाने को जमीन नही मिल रही हैं,लेकिन नपा अपनी आधे करोड की भूमि को भूल गई ओर यह भूमि आज कागजो में हैं,लेकिन धरातल पर खुर्दबुर्द हो चुकी हैं। 

विकास प्राधिकरण शिवपुरी ने ट्रांसपोर्ट नगर के लिए साल 1995 में 9.41 हेक्टर लगभग 46 बीघा  जमीन पांच किसानों से खरीदी थी। जमीन के एजव में 14.34 लाख रुपए किसानों को दिए थे। लेकिन जमीन पर ट्रांसपोर्ट नगर शुरू करने की कार्रवाई से पहले ही विकास प्राधिकरण का विलय नगर पालिका में हो गया। इससे जमीन अधिपत्य में लेकर देखरेख की जिम्मेदारी नगरपालिका पर आ गई। 

तत्कालीन अधिकारियों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। करीब 25 साल से जमीनों पर अवैध कब्जे हो गए। कुछ जमीनों की खरीद-फरोख्त भी हो गई। एक करोड़ प्रति बीघा के मान से उक्त जमीन की बाजार में 46 करोड़ रुपए कीमत आंकी जा रही है। अपनी बेशकीमती जमीन को अधिपत्य में लेना तो दूर अधिकारियों को इसकी जानकारी तक नहीं है। जबकि नपा अपने खुद के भवन के लिए जमीन तलाश रही है।


फर्जीवाड़ा : बिकने के बाद दूसरी दफा बेच दी सर्वे नंबर 769 की जमीन
हल्लू, हरिया कुशवाह ने 1995 में अपनी सर्वे नंबर 769 की 2.290 हेक्टेयर जमीन विकास प्राधिकरण को बेच दी थी। लेकिन उक्त जमीन दूसरी बार फिर बेच दी, दूसरी बार जिनि लोगों को बेची है उनमें अशफाक अहमद, राशिद खान, अतुल शर्मा, रघुवीर, मलखान, हरप्रसाद, शिवराम, नंदलाल, हरीशंकर सहित अन्य लोग शामिल बताए जाते हैं। बताया जाता है कि अगरइस मामले की जांच होने पर संबंधित तहसीलदार और पटवारी पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।

वर्तमान स्थिति: राजस्व रिकार्ड में विकास प्राधिकरण का कब्जा
विकास प्राधिकरण के विलय होने पर नपा ने संबंधित जमीनों का नामांतरण नहीं कराया। सर्वे नंबर 767 व 792 जमीन नुजहत से खरीदी थी, उस पर राजस्व रिकार्ड में विकास प्राधिकरण शिवपुरी का कब्जा दर्शाया है। 
 

लेकिन मौके पर दूसरे लोग अधिपत्य जमाए बैठे हैं। कुछ यही हाल खालिद खान से खरीदी सर्वे नंबर 793 व 796 की जमीन का है, रिकार्ड में कब्जाधारी विकास प्राधिकरण है और धरातल पर जमीन विक्रेता के पास है। सर्वे नंबर 795 की जमीन पर काविज विकास प्राधिकरण दर्ज है।
 

 इस जमीन पर खुद का भवन बना सकती है नपा
उक्त 46 बीघा जमीन पर नपा खुद का भवन बना सकती है। क्योंकि पुरातत्व विभाग का भवन हर हाल में खाली करना है। वहीं उस क्षेत्र में नया कलेक्टोरेट भवन बनने जा रहा है। मेडिकल कॉलेज से लेकर पीएम आवास कॉलोनी व हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी भी बन चुकी है।  


पुरानी फाइल निकलवाकर कलेक्टर के संज्ञान में लाएंगे
इस बारे में हमें अधीनस्थों ने जानकारी नहीं दी है। पुरानी फाइल निकलवाकर कलेक्टर के संज्ञान में लाएंगे। जमीन को अपने अधिपत्य में लेकर जनहित में उपयोग में लाने का काम करेंगे। 
केके पटेरिया, सीएमओ, नगरपालिका, शिवपुरी

हां कुछ जगह अवैध मुरम खनन हुआ है: पटवारी
हमारे राजस्व रिकार्ड में उक्त सर्वे नंबरों की जमीन पर काबिज विकास प्राधिकरण शिवपुरी है। कुछ जगह अवैध मुरम खनन हुआ है। मौके पर कब्जों की स्थिति का पता लगाएंगे। दीपक धाकड़, पटवारी, हल्का नौहरीकलां तहसील





Popular posts
प्लास्टिक के दुष्प्रभाव से बचने समझना होगा वेस्ट मैनेजमेंट को
शादीशुदा BF संग भागी प्रेमिका, प्रेमी की पत्नी नही मानी तो प्रेमी पर दर्ज कराया RAPE का मामला
Image
कोतवाली पुलिस ने किए अंधे कत्ल के शेष दो आरोपी गिरफ्तार। 
Image
ग्वालियर। ग्वालियर में तीन मंजिला एक मकान में भीषण आग लगने से सात लोगों की जिंदा जलकर दर्दनाक मौत हो गई। जबकि तीन अन्य गंभीर रूप से झुलसे लोगों का इलाज चल रहा है। फायर बिग्रेड आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहा है। घटनास्थल पर जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, नगर निगम कमिश्नर सहित प्रशासन के आला अधिकारी और राजनेता भी पहुंच गए। घटना इंदरगंज थाने से महज 100 मीट की दूरी पर हुई। आग कैसे लगी इसकी जानकारी नहीं मिली है।  जानकारी के मुताबिक ग्वालियर के इंदरगंज चैराहे पर रोशनी घर मोड़ पर तीन मंजिला मकान में गोयल परिवार रहता है। हरिमोहन, जगमोहन, लल्ला तीनों भाई की फैमिली रहती है जिसमें कुल 16 लोग शामिल हैं। इस मकान में एक पेंट की दुकान भी है जिसमें आधी रात को भीषण आग लग गई। दुकान की ऊपरी मंजिल में बने मकान में परिवार आग की लपटों में फंस गया।  देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। मामले की जानकरी मिलते ही फायर ब्रिगेड अमला मौके पर पहुंच गया और आग में फंसे परिवार को बचाने लगा। लेकिन तब तक सात लोगों की जिंदा जलकर मौत हो चुकी थी। एडिशनल एसपी ने सात लोगों की मृत्यु की पुष्टि की है। सुबह मौके पर सांसद विवेक शेजवलकर, पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल, चेम्बर अध्यक्ष विजय आदि भी पहुंचे। इस भीषण अग्निकांड की घटना में मृत लोगों के नाम इस प्रकार हैं - 1. आराध्या पुत्री सुमित गोयल उम्र 4 साल 2. आर्यन पुत्र साकेत गोयल उम्र 10 साल 3. शुभी पुत्री श्याम गोयल उम्र 13 साल 4. आरती पत्नी श्याम गोयल उम्र 37 साल 5. शकुंतला पत्नी जय किशन गोयल उम्र 60 साल 6. प्रियंका पत्नी साकेत गोयल उम्र 33 साल 7. मधु पत्नी हरिओम गोयल उम्र 55 साल 
Image
उत्कृष्ट विद्यालय मुरार में नन्हे नन्हे हाथों ने उकेरी रंगोलियां
Image