पिछले पांच साल से धूल खा रही है सवा करोड़ रुपए की लागत से बनी टंकी





भोपाल / राजधानी के हमीदिया अस्पताल के पास वहीदिया स्कूल परिसर में लगभग सवा करोड़ रुपए की लागत से पानी की एक टंकी बनाई गई, जिसमें पहली मर्तबा पानी भरने पर ही पाेल खुल गई। इसमें जगह-जगह से पानी लीक हो रहा था। इस कारण इसे दुरुस्त कराकर दोबारा पानी भरा जाना था। लेकिन न तो टंकी दुरुस्त हुई और न ही पुन: पानी भरा गया। लिहाजा सवा करोड़ रुपए की लागत से बनी यह टंकी धूल खा रही है।

बताया जाता है कि वर्ष 2014 से यह टंकी बनकर तैयार है। पहली ही जांच में फेल होने के बाद इंजीनियर्स ने न तो टंकी ठीक कराई और न ही दोबारा इसमें पानी भरने की जहमत उठाई। जनप्रतिनिधियों का कहना है कि उनके पास रहवासियों की शिकायतें आई थीं। उन्होंने कई बार नगर निगम अधिकारियों को ओवरहेड टैंक दुरुस्त करवाकर परीक्षण कराने का कहा है। लेकिन उनकी भी सुनवाई नहीं हो रही है।

इन इलाकों में होगा पानी सप्लाई

वार्ड नंबर 21 की आबादी 15 हजार से अधिक है। स्कूल परिसर स्थित इस टैंक से नूर महल रोड, चौकी इमामबाड़ा, हवा महल रोड समेत कई रहवासी क्षेत्रों में पानी सप्लाई होना था। लेकिन ओवरहेड टैंक बनने के बाद भी इससे पानी सप्लाई नहीं किया जा रहा है। वार्ड के रहवासियों का कहना है कि जब सब तैयारी हो चुकी है तो हमें पानी सप्लाई क्यों नहीं किया जा रहा है? जनप्रतिनिधि और निगम अधिकारी जल्द सप्लाई शुरू करने का सिर्फ आश्वासन ही दे रहे हैं।

गौरतलब है कि जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीनीकरण योजना के अंतर्गत शहर में 60 से अधिक ओवरहेड टैंक बनाए गए हैं। इसका उद्देश्य शहर के प्रत्येक घर में स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना है। इसी योजना के तहत उपरोक्त ओवरहेड टैंक बनाया गया है, जो देखरेख के अभाव में खराब हो रहा है।

शीघ्र ही मिलने लगेगा पानी

 ओवरहेड टैंक बनकर तैयार हो चुका है। शीघ्र ही यहां से पानी की सप्लाई शुरू हो जाएगी। इससे पहले शाहजहांनाबाद में बने ओवरहेड टैंक से पानी सप्लाई होना है। उसके बाद वहीदिया स्कूल के टैंक से पानी सप्लाई किया जाएगा। एआर पवार, सिटी इंजीनियर, वाटर वर्क्स नगर निगम भोपाल