मनुष्य को अहंकार नहीं करना चाहिए इससे पतन हाे जाता है

: रामस्वरूपाचार्य





दतिया / संसार में जितने भी अहंकार किया है उसका पतन हुआ है। फिर चाहे देवी देवता हो या इंसान। भगवान श्री हरि जिससे भी प्रेम करते हैं उसके अहंकार को किसी न किसी रूम में आकर दूर कर देते हैं। इसलिए मनुष्य को कभी अहंकार नहीं करना चाहिए। यह बात बग्गीखाना प्रांगण में चल रही श्रीराम कथा में मंगलवार को कथा व्यास रामस्वरूपाचार्य जी महाराज ने कही।

उन्होंने कहा कि मनुष्य को संसार में भगवान से संबंध बनाकर चलना चाहिए। लोगों के बहकावे में आकर कभी भी भगवान से संबंध नहीं बिगाड़ना चाहिए। कथा व्यास ने भगवान श्रीराम और जानकी के विवाह की कथा कहते हुए कहा कि मिथलेश नरेश जनक ने अपनी पुत्री के विवाह के लिए स्वयंवर रचा। स्वयंवर में देश के कोने कोने से 10 हजार से ज्यादा राजा शामिल हुए। लेकिन कोई भी धनुष को डिगा नहीं पाया। अंत में महाराज जनक व्याकुल होने लगे तो गुरू की आज्ञा से श्रीराम खड़े हुए। श्रीराम ने धुन की ओर जैसे ही हाथ बढ़ाया तो धनुष खुद ही हाथों में आ गया। श्रीराम और धनुष की आपस में बातचीत होने लगी। श्रीराम ने धनुष से टूटने की आज्ञा मांगी तो धनुष ने सहर्ष कह दिया तोड़ दो। इसके बाद राम ने धनुष तोड़ दिया। धनुष टूटते ही सभी राजा वहां आ गए और टूटे हुए धनुष से झगड़ते हुए बोले कि हमसे क्यों नहीं टूटे। धनुष ने जवाब देते हुए कहा कि मैं जहां से टूटना चाहता था तुम लोग वहीं पकड़ रहे थे। इसलिए मूर्ख कौन है, पहले यह तय करो। इसके बाद राजा आपस में तलवारें चलाने लगे। नारद उन्हें समझाने पहुंचे। इतने में श्रीराम और सीता जी का विवाह हो गया।

श्यामाचरण खरे की स्मृति में आज होगा कवि सम्मेलन

श्रीरामकथा समिति के महासचिव संघर्ष यादव ने बताया कि श्यामाचरण खरे की स्मृति में बुधवार 8 जनवरी को रात 8 से 11 बजे तक अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन होगा। कवि सम्मेलन में गीतकार सोम ठाकुर, हास्य कवि तेजनारायण शर्मा बेचैन, गीतकार संतोष सोनकिया, कवयित्री ममता बाढ़ी व स्थानीय कवि शामिल होंगे।




Popular posts
प्लास्टिक के दुष्प्रभाव से बचने समझना होगा वेस्ट मैनेजमेंट को
शादीशुदा BF संग भागी प्रेमिका, प्रेमी की पत्नी नही मानी तो प्रेमी पर दर्ज कराया RAPE का मामला
Image
कोतवाली पुलिस ने किए अंधे कत्ल के शेष दो आरोपी गिरफ्तार। 
Image
ग्वालियर। ग्वालियर में तीन मंजिला एक मकान में भीषण आग लगने से सात लोगों की जिंदा जलकर दर्दनाक मौत हो गई। जबकि तीन अन्य गंभीर रूप से झुलसे लोगों का इलाज चल रहा है। फायर बिग्रेड आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहा है। घटनास्थल पर जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, नगर निगम कमिश्नर सहित प्रशासन के आला अधिकारी और राजनेता भी पहुंच गए। घटना इंदरगंज थाने से महज 100 मीट की दूरी पर हुई। आग कैसे लगी इसकी जानकारी नहीं मिली है।  जानकारी के मुताबिक ग्वालियर के इंदरगंज चैराहे पर रोशनी घर मोड़ पर तीन मंजिला मकान में गोयल परिवार रहता है। हरिमोहन, जगमोहन, लल्ला तीनों भाई की फैमिली रहती है जिसमें कुल 16 लोग शामिल हैं। इस मकान में एक पेंट की दुकान भी है जिसमें आधी रात को भीषण आग लग गई। दुकान की ऊपरी मंजिल में बने मकान में परिवार आग की लपटों में फंस गया।  देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। मामले की जानकरी मिलते ही फायर ब्रिगेड अमला मौके पर पहुंच गया और आग में फंसे परिवार को बचाने लगा। लेकिन तब तक सात लोगों की जिंदा जलकर मौत हो चुकी थी। एडिशनल एसपी ने सात लोगों की मृत्यु की पुष्टि की है। सुबह मौके पर सांसद विवेक शेजवलकर, पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल, चेम्बर अध्यक्ष विजय आदि भी पहुंचे। इस भीषण अग्निकांड की घटना में मृत लोगों के नाम इस प्रकार हैं - 1. आराध्या पुत्री सुमित गोयल उम्र 4 साल 2. आर्यन पुत्र साकेत गोयल उम्र 10 साल 3. शुभी पुत्री श्याम गोयल उम्र 13 साल 4. आरती पत्नी श्याम गोयल उम्र 37 साल 5. शकुंतला पत्नी जय किशन गोयल उम्र 60 साल 6. प्रियंका पत्नी साकेत गोयल उम्र 33 साल 7. मधु पत्नी हरिओम गोयल उम्र 55 साल 
Image
उत्कृष्ट विद्यालय मुरार में नन्हे नन्हे हाथों ने उकेरी रंगोलियां
Image